कल खुलेगा Zomato IPO पैसा लगाओ बंपर कमाई का मौका | जोमैटो एक आईपीओ लिस्टेड कंपनी है

Zomato IPO जुलाई महीने में फूड डिलीवरी कंपनी Zomato का IPO आईपीओ पार्टी में खुल गया है। कंपनी की आईपीओ के जरिए 9375 करोड़ रुपये जुटाने कीयोजना है। कंपनी ने इस इश्यू के लिए प्राइस बैंक 72 रुपये 76 रुपये तय किया है। Zomato का IPO निवेशकों के लिए 14 जुलाई से 16 जुलाई तक खुला रहेगा।
Zomato ipo

के सकारात्मक और नकारात्मक कारकों के बारे में जानकारी दी है। इसके साथ ही किन निवेशकों को इसमें पैसा लगाना चाहिए।
कंपनी के साथ क्या सकारात्मक हैं

कंपनी के पास अपनी संपत्ति नहीं है, यह केवल व्यापार के लिए एक मंच है। लेकिन इस तरह के बिजनेस मॉडल में ग्रोथ की संभावना बहुत ज्यादा होती है। भारत में सिर्फ 7 से 8 फीसदी लोग होटल या रेस्टोरेंट जाने के बजाय ऑनलाइन खाना ऑर्डर करते हैं, जबकि चीन में यह 53 फीसदी और यूएई में 38 फीसदी है। ऐसे में भारत में इस कारोबार की ग्रोथ मजबूत होती दिख रही है।

जिसका फायदा होगा।
कंपनी ने विज्ञापित किया है

कंपनी के साथ क्या हैं पॉजिटिव

कंपनी के पास अपनी संपत्ति नहीं है, यह केवल व्यापार के लिए एक मंच है। लेकिन इस तरह के बिजनेस मॉडल में ग्रोथ की संभावना बहुत ज्यादा होती है। भारत में सिर्फ 7 से 8 फीसदी लोग होटल या रेस्टोरेंट जाने के बजाय ऑनलाइन खाना ऑर्डर करते हैं, जबकि चीन में यह 53 फीसदी और यूएई में 38 फीसदी है। ऐसे में भारत में इस कारोबार की ग्रोथ मजबूत होती दिख रही है।जिसका फायदा होगा।

कंपनी में क्या है निगेटिव

अनिल सिंघवी का कहना है कि कंपनी के साथ कुछ निगेटिव बातें भी जुड़ी हैं. इस क्षेत्र में प्रतियोगिता बहुत ज्यादा है. Swiggy पहले से इस क्षेत्र में है, अब Amazon भी इस तरह के बिजनेस में आ गया है. ऐसे में Zomato को तगड़ी प्रतियोगिता मिलने वाली है. 

एक और निगेटिव बात है कि कंपनी अभी तक मुनाफे में नहीं आई है. यानी निवेशकों को लॉस मेकिंग कंपनी में पैसे लगाने हैं. कंपनी का मुनाफा आने में अभी 3 साल लग सकते हैं. हालांकि कंपनी ने अपने विज्ञापन के खर्च कम किए हैं.

क्या करें निवेशक

उनका कहना है कि जो निवेशक जोखिम लेने की क्षमता रखते हैं और निवेश के लिए लंबी अवधि का लक्ष्य रखते हैं, उन्हें इसमें छोटे-छोटे निवेश करने चाहिए। लिस्टिंग गेन की बात करें तो काफी उम्मीद है। वैल्यूएशन सस्ता नहीं है, लिस्टिंग 5 से 10 फीसदी के प्रीमियम पर हो सकती है। लिस्टिंग के बाद अब अगर शेयर कमजोर है 

375 करोड़ का ओएफएस
Zomato के IPO में 375 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल (OFS) होगा। केवल 9000 करोड़ नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे। कंपनी के कर्मचारियों के लिए 65 लाख शेयर रिजर्व किए गए हैं। बता दें कि कंपनी ने अपने आईपीओ के ढेर को पहले ही प्लान से बढ़ा दिया है। इससे पहले कंपनी की आईपीओ से 8250 करोड़ जुटाने की योजना थी।

कम से कम कितना निवेश

Zomato के IPO में प्राइस बैंड 72 रुपये से 76 रुपये तय किया गया है। वहीं, 195 शेयरों का लॉट साइज है। आईपीओ में लॉट साइज में खरीदारी करनी होगी। ऊपरी प्राइस बैंड 76 रुपये के लिहाज से इसमें कम से कम 14820 रुपये लगाना जरूरी होगा।

किसके लिए कितना रिजर्व

Zomato के IPO में 75 फीसदी हिस्सेदारी योग्य संस्थान खरीदारों के लिए आरक्षित होगी। जबकि गैर-संस्थागत लड़कों के लिए 15 प्रतिशत आरक्षित रहेगा। केवल 10 फीसदी हिस्सेदारी खुदरा निवेशकों के लिए होगी। कर्मचारियों के लिए 65 लाख शेयर रिजर्व रहेंगे।

भारतीय यूनिकॉर्न कंपनी Zomato की इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) की भूख ने निवेशकों को ग्रे मार्केट में धकेल दिया है। Zomato IPO GMP (ग्रे मार्केट प्रीमियम) आज लगभग 12 प्रतिशत है, जो कल के ₹13 से ₹17 के प्रीमियम से लगभग 8 प्रतिशत कम है। बाजार के जानकारों के मुताबिक, जोमैटो के आईपीओ जीएमपी में आज की गिरावट इश्यू के लिए अच्छी नहीं है, जो आज सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है। जोमैटो के आईपीओ के रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (आरएचपी) के अनुसार, इसकी सदस्यता 14 जुलाई 2021 को खुलेगी और यह 16 जुलाई 2021 तक बोली लगाने के लिए खुली रहेगी। हालांकि, बाजार पर्यवेक्षकों ने कहा कि आईपीओ का जीएमपी एक ठोस संकेतक नहीं है। सार्वजनिक पेशकश और जनता कंपनी की वित्तीय स्थिति देखेंगे और आरंभिक सार्वजनिक पेशकश के लिए जोरदार बोली लगाएंगे।

शेयर बाजार में Zomato कब लिस्ट होगा?

26 जुलाई को शेयर डीमैट खाते में जुड़ने के बाद इसे 27 जुलाई को एनएसई, बीएसई पर लिस्ट किया जाएगा। आईपीओ से मिले पैसों में से 5,625 करोड़ रुपये कंपनी और अन्य कंपनियों की विस्तार योजना पर खर्च किए जाएंगे।

ग्रे मार्केट में जोमैटो का आईपीओ

जोमैटो के आईपीओ में किए गए आवेदन का खुलासा 22 जुलाई को होगा। यानी 22 तारीख तक शेयरों के आवंटन का पता चल जाएगा। आईपीओ नहीं मिला तो 23 जुलाई को आवंटन के लिए रुका पैसा वापस कर दिया जाएगा। आवंटन में शेयर पाए जाने पर 26 जुलाई तक शेयरों को डीमैट खाते में जोड़ दिया जाएगा। आवंटन की स्थिति लिंकटाइम इंडिया या कंपनी की वेबसाइट या स्टॉक एक्सचेंज की वेबसाइट से पता चल जाएगी।अ अधिग्रहणखर्च होगा। 

यह जरूर पढ़ें


Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.